B.Ed कोर्स क्या है? B.Ed कैसे करे? B.Ed Course details: योग्यता, फीस, सब्जेक्ट्स लिस्ट..

नमस्ते दोस्तों,आज हम आपको इस आर्टिकल में B.Ed Course details में बतयेंगे। अगर आप भी B.Ed करना चाहते है, तो ये पोस्ट आपके लिए ही है। इस पोस्ट को पूरा पढ़िए।  B.Ed कोर्स को बैचलर ऑफ एजुकेशन भी कहते हैं। एक स्कूल टीचर बंनने के लिए B.ed कोर्स पूरा करना बहुत जरूरी है, तभी स्कूल में एक टीचर की जॉब मिलती है। टीचर बनने के लिए B.Ed कोर्स करना बहुत आवश्यक होता है। 

भारत में यह एक विशेष डिग्री है जो किसी भी स्कूल में अध्यापक की नौकरी प्राप्त करने के लिए होनी जरूरी होती है। वर्ष 2019 से ही B.Ed डिग्री को अनिवार्य कर दिया गया है जबकि पहले गैर सरकारी विद्यालयों में उम्मीदवारों को भी अध्यापक की नौकरी दे दी जाती थी। जिनके पास B.Ed की डिग्री नहीं होती थी, परंतु अब ऐसा नहीं है अब चाहे सरकारी विद्यालयों में टीचर की नौकरी करना हो या फिर निजी या प्राइवेट स्कूलों में टीचर की नौकरी सब जगह B.Ed की डिग्री होना अनिवार्य है।

Bachelor of Education (B.Ed) Course Highlights

Course Name Bachelor of Education (B.Ed)
Duration of the Course02 Years
Eligibility CriteriaApplicants must be a graduate/postgraduate in any relevant field from a recognised University
Entrance Exams-DU B.Ed
-IGNOU B.Ed
-IPU CET
-RIE CEE
-MAH Integrated B.Ed-M.Ed CET 2020
-Bihar B.Ed CET
-UP B.Ed JEE
Admission ProcessAdmissions are done on the basis of entrance exams and followed by a counseling process in most of the universities and institutions. However, there are some institutions which offer merit-based admission to the B.Ed aspirants
Course FeeINR 5K to INR 2 lakhs
Average Starting SalaryINR 2 LPA to INR 10 LPA
Job Positions Offered -Education Researcher
-Content Writer
-Counselor
-School Teachers
-Education Consultant
-Research Assistant
B.Ed Course details: योग्यता, फीस, सब्जेक्ट्स लिस्ट..

B.Ed क्या है?

B.Ed Course details जानने से पहले हमको ये पता होना चाहिए को B.Ed क्या होता है? बैचलर ऑफ एजुकेशन (B.Ed) प्रोग्राम, जिसे आम तौर पर बी.एड के रूप में जाना जाता है, एक Professional Courses है, जो शिक्षकों को उच्च प्राथमिक या मध्यम स्तर (कक्षा 6-8), माध्यमिक स्तर (कक्षा 9-10) और वरिष्ठ माध्यमिक स्तर (कक्षा 11-12) के लिए तैयार करता है।

बी.एड की समयावधि

बीएड 2 वर्ष का स्नातक कोर्स है। यह चार सेमेस्टर पर आधारित दो साल का नियमित (पूर्णकालिक) कार्यक्रम है| बीएड करने के लिए आपको शिक्षा, संस्कृति और मानवमूल्य, शैक्षणिक मनोविज्ञान, शैक्षणिक मूल्यांकन, शिक्षा दर्शन आदि विषय पर ध्यान देना होगा। अगर आप बी.एड कर लेते हैं, तो आप शिक्षण कार्य करने के लिए तैयार हो जाते हैं। अगर आपने बी.एड. नहीं किया है तो आप एक शिक्षक के रूप में काम नहीं कर सकते हैं।

बीएड कैसे करे?

B.Ed Course details जानने से पहले अभ्यार्थियों के मन में सबसे पहले ये बात आती है कि B.Ed कैसे करे? तो हम आपको बताते है, कि B.Ed करने के लिए आपको सबसे पहले एक B.Ed प्रवेश परीक्षा देनी होगी। उसके बाद एक काउन्सलिंग में उम्मीदवार को उसके रैंक के अनुसार कॉलेज मिलते हैं। बीएड करने के लिए बहुत सारे प्राइवेट और गवर्नमेंट महाविद्यालय है।

बीएड किसी गवर्नमेंट से मान्यता प्राप्त महाविद्यालय से करें। अगर आप बीएड करना चाहते है तो आप किसी गवर्नमेंट महाविद्यालय से ही करे क्योकि इससे आपका पैसे भी बचेंगे। ये परीक्षा आम तौर पर जून-जुलाई महीने में आयोजित की जाती हैं। और इसमें कुछ राज्यों में अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान, प्रयोग, मूल अंकगणित शिक्षण क्षमता और एक स्थानीय भाषा के बारे में प्रश्न शामिल हैं। इन परीक्षाओं के परिणाम आम तौर पर जुलाई / अगस्त तक आते हैं। उम्मीदवार सिद्धांत कक्षाओं के अलावा व्यावहारिक प्रशिक्षण सिलेबस के माध्यम से जाते हैं।

बी.एड. करने से क्या होता है?

B.Ed Course details जानने से पहले हम ये जान लेते है की बी.एड. करने से होता क्या है। शिक्षा के महत्त्व को समझते हुए शिक्षण कार्य करने के लिए भारत में एक विशेष डिग्री हासिल करनी होती है, जिसे हम बी.एड. कहते हैं। आप सरकारी स्कूल में टीचर बनना चाहते हैं तो आपके पास बी.एड. की डिग्री होना जरूरी है। हम आपको बता दें कि सरकार ने अब यह घोषणा कर दिया है कि चाहे सरकारी टीचर हो या निजी सबके पास B.Ed की डिग्री होना जरूरी है।

B.Ed Division आयोजित करता है, बी.एड. उन लोगों के लिए कार्यक्रम जो स्कूल शिक्षक बनने के लिए प्रेरित करते हैं, और जो पहले से ही जीएनसीटी, एनडीएमसी और दिल्ली छावनी बोर्ड के स्कूलों में सहायक शिक्षक के रूप में काम कर रहे हैं, और उच्च प्राथमिक, माध्यमिक या वरिष्ठ माध्यमिक स्तर पर पदोन्नत और पढ़ाना चाहते हैं।

बीएड कोर्स के लिये योग्यता (B.Ed Course Eligibility)

  • B.Ed कोर्स में प्रवेश करने के लिए बैचलर ऑफ आर्ट्स (बीए), बैचलर ऑफ साइंस (बीएससी) या बैचलर ऑफ कॉमर्स (बीकॉम) व अन्य स्नातक (ग्रेजुएशन) में न्यूनतम अंक 50% होने अनिवार्य है एवं ग्रेजुएशन मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से की होनी अनिवार्य है।
  • B.Ed कोर्स किसी भी सरकारी कॉलेज से किया जा सकता है, इसके अलावा सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान से भी यह कोर्स किया जा सकता है।
  • B.Ed प्रवेश के लिए कोई आयु सीमा नहीं होती है, B.Ed प्रवेश के लिए पास प्रतिशत कॉलेज से कॉलेज में भिन्न हो सकता है। 

B.Ed के लिए प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam for B.Ed)

  • बीएड में प्रवेश करने के लिए उम्मीदवारों को सबसे पहले प्रवेश परीक्षा देनी होती है।
  • ये प्रवेश परीक्षा आम तौर पर जून-जुलाई महीने में आयोजित की जाती हैं, जिसमें अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान, प्रयोग, मूल अंकगणित शिक्षण क्षमता और एक स्थानीय भाषा के बारे में प्रश्न शामिल होते हैं।
  • परीक्षा के परिणाम आम तौर पर जुलाई / अगस्त तक आ जाते हैं।
  • परीक्षा के बाद एक काउन्सलिंग होती है।
  • उस काउन्सलिंग में उम्मीदवार को उसके रैंक के अनुसार कॉलेज मिल जाते हैं।

बी एड सब्जेक्ट्स लिस्ट

अगर आप ये सोच रहें हैं कि बीएड में आपको क्या पढ़ना होगा तो आइए हम आपको बताते हैं कि बी एड में आपके सब्जेक्ट क्या होंगे। अभ्यार्थी बीएड सब्जेक्ट्स लिस्ट नीचे देख सकते हैं।

  • शिक्षा, संस्कृति और मानव मूल्य
  • शैक्षिक मूल्यांकन और आकलन
  • शैक्षणिक मनोविज्ञान
  • मार्गदर्शन और परामर्श
  • समग्र शिक्षा
  • शिक्षा का दर्शन

B.Ed में इन सब्जेक्ट्स में विशेषज्ञता प्राप्त करें

  • जैविक विज्ञान
  • प्राकृतिक विज्ञान
  • व्यापार
  • शारीरिक शिक्षा
  • कंप्यूटर विज्ञान
  • भौतिक विज्ञान
  • अर्थशास्त्र
  • विशेष शिक्षा
  • अंग्रेज़ी
  • तमिल
  • भूगोल
  • गणित
  • हियरिंग इम्पेरेड
  • राजनीति विज्ञान
  • हिन्दी
  • भौतिक विज्ञान
  • होम साइंस
  • रसायन विज्ञान

B.Ed की फीस

अगर आप बी एड करना चाहते हैं तो आपको बता दें कि इस कोर्स की अवधि 2 साल की है। अगर आप बीएड डिस्टेंस से करते हैं तो उसके लिए फीस अलग है और अगर रैगुलर करते हैं तो उसके लिए अलग है। नियमित कक्षाओं के लिए कोर्स शुल्क लगभग 50,000-70,000 है। और डिस्टेंस से करने वालो के लिए फीस कम है। अगर आप बीएड सरकारी संस्थानों द्वारा करते है, तो आपको कम फीस देनी होगी। हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय बीएड के लिए लगभग 32,000 प्रति वर्ष का शुल्क लेता है। वीर कुंवर सिंह यूनिवर्सिटी ने बीएड के लिए लगभग 16,500 रुपये का शुल्क लिया जबकि केरल में सभी निजी कॉलेजों ने लगभग रु 29,000 फीस है।

B.Ed की सिलेबस 

B.Ed  सिलेबस की योजना को इस तरह से संरचित किया जाता है। ताकि आवेदकों को उन सभी दृष्टिकोणों से परिचित कराया जा सके जो उन्हें अपने पेशे में देखने चाहिए। कोर्स 4 सेमस्टर से किया जाता है। जिसमे व्यवहारिक और सैद्धांतिक दोनों विषयो में शामिल होते है। पाठ्यक्रम का वर्ष वार सिलेबस नीचे दिया गया है। 

First Year  Second Year
बचपन और बढ़ता जानाकार्यछेत्र से जुड़ाव
समकालीन भारत और शिक्षापुर्व इंटर्नशिप
विषयो की शिक्षा शास्त्रइंटर्नशिप
भाषाएं पाठ्यक्रम के पारपोस्ट इंटर्नशिप
ICT और इसके अनुप्रयोगो का समझशिक्षा में कला
ज्ञान और पाठ्यक्रमएक समावेशी स्कूल बनाना
सीखना और सिखानास्वास्थ्य, योग और शारीरिक शिक्षा
सिखने के लिए मूल्यांकनस्वयं को समझना
स्कूल अटैचमेंटपढ़ना और ग्रंथो की चिंतन करना

 

B.Ed करने के बाद नौकरी (Carrier option After B.Ed)

  • बीएड पूरा करने के बाद निजी और साथ ही सरकारी स्कूलों में अच्छा वेतन पैकेज के साथ नौकरी पाने के लिए अवसर प्राप्त होते हैं।
  • बी.एड. करने के बाद टीजीटी और पीजीटी के जरिए नौकरी मिलती है।
  • बी.एड. में 50% अंक और बी.ए., बी.कॉम., बी.एससी. या स्नातक स्तर की परीक्षा में भी 50% अंक हैं तो TGT ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (टीजीटी) के जरिए कक्षा 1 से लेकर कक्षा 10 तक अध्यापक की नौकरी मिलती है। PGT यानि कि पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (पीजीटी) के जरिए किसी भी सरकारी या निजी स्कूल में कक्षा 12 तक अध्यापक की नौकरी मिलती है।
  • सरकारी नौकरी प्राप्त करने के लिए बी.एड. के साथ TET टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (टी.ई.टी.) की परीक्षा को उत्तीर्ण करना भी अनिवार्य है, जो वर्ष 2012 में देश में अनिवार्य कर दिया गया है अर्थात इस टेस्ट को पास करने वाले ही अध्यापक की सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।
  • बीएड के बाद एम.एड भी कर सकते हैं और उच्च शिक्षा में अध्यापन के लिए नौकरी पा सकते हैं, लेकिन शिक्षाशास्त्र में इसके साथ ही NET नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (नेट) क्वालीफाई करना आवश्यक है।
  • बीएड के बाद मास्टर ऑफ एजुकेशन (एमएड) स्नातकोत्तर उच्च विशेष पाठ्यक्रम है, एम.एड. के पूरा होने के बाद उम्मीदवार पीएचडी भी कर सकते हैं।

बी.एड. करने के बाद भर्ती क्षेत्र (Jobs After B.Ed Course)

बी.एड. करने के बाद आप

  • कोचिंग केंद्र
  • शिक्षा परामर्शदाता / Education Counselor
  • गृह अध्यापन / Home Teaching
  • निजी प्राइमरी
  • पब्लिशिंग हाउस
  • रिसर्च एंड डेवलपमेंट एजेंसियां
  • स्कूल और कॉलेज

Top Job Profiles

  • शिक्षक
  • प्रशासक
  • सहायक डीन
  • सामग्री लेखक
  • सलाहकार
  • शिक्षा शोधक, आदि।

यह सारे वह क्षेत्र हैं और प्रोफाइल हैं, जिनपर बी.एड कम्पलीट करने के बाद काम किया जा सकता है।

औसत प्रारंभ वेतन / सैलरी (Salary after completion B.Ed Course)

B.Ed Course नौकरी क्षेत्र में अपने करियर की स्थापना के लिए खुले है जिसमे नौकरी के लिए कई भत्ते हैं। बैचलर ऑफ़ एजुकेशन जॉब प्रोफाइल में से कुछ निचे दिए गए है। 

  • टीजीटी अध्यापकों के तौर पर लगभग 5 लाख से 8.5 लाख रुपए तक का वार्षिक वेतन मिलता है।
  • पीजीटी अध्यापकों के तौर पर लगभग 4 लाख से 8 रुपए वार्षिक वेतनमान मिल सकता है।
  • सलाहकार के तौर पर लगभग 3 लाख से 5 लाख रुपए वार्षिक वेतनमान मिल सकता है।
  • Counselor के तौर पर लगभग 3 लाख रुपए वार्षिक वेतनमान मिल सकता है।
  • शिक्षा शोधक के तौर पर लगभग 6 लाख रुपए वार्षिक वेतनमान मिल सकता है।

अध्यापक बनने के लिए ग्रदुअतिऊण पूरी करने के बाद अच्छे संस्थान में बी.एड का कोर्स अवश्य करना चाहिए। पहले बी.एड के कोर्स की तरफ खासकरके प्राइवेट स्कूल ध्यान नहीं देते थे और ग्रेजुएट्स को ही अध्यापक की नौकरी पर रख लेते थे; परन्तु जबसे सरकार ने बी.एड डिग्री को अनिवार्य किया है, तभी से देश भर में उन उम्मीदवारों को ही स्कूलों में अध्यापक की नौकरी दी जाती है, जिनके पास बी.एड की डिग्री हो सरकारी अद्यापक बनने के लिए बी.एड के साथ साथ टी.इ.टी पास करना भी जरूरी है।

इस आर्टिकल में हमने B.Ed के बारे में डिटेल में जानकारी आपके साथ साझा किया है। हमने इसमें B.Ed कोर्स क्या है, कैसे करें, योग्यता, फीस, सैलरी, करियर ऑप्शन,B.Ed से जुड़े हर एक टॉपिक पर बारिकी से बताने की कोशिश की है। उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल पढ़ने के बाद B.Ed के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी। आपके डाउट्स भी क्लियर हो गए होंगे।

अगर अभी भी आपको B.Ed course details के बारे में कोई और जानकारी चाहिए या आपका इससे रिलेटेड कोई सवाल है, तो हमसे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Read more:

Diploma kaise kare?Click
B.Tech kaise kare? Click
MBA kaise kare?  Click
PhD Me Admission Kaise Le?Click  

B.Tech kaise kare?                       Click 

Diploma kaise kare?                     Click

MBA kaise kare?                          Click

PhD Me Admission Kaise Le?      Click   

Leave a Comment