B.Tech Course कैसे करें? B.Tech Course Full Details in Hindi

नमस्कार दोस्तों, B.Tech kaise kare और B.Tech Me Admission Kaise Le, Engineering करने के लिए कितने पैसे की आवश्यकता होती है। B.Tech करने के बाद कितनी सैलरी मिलेगी, B.Tech कितने प्रकार के होते हैं? आपकी इन सभी सवालों का जवाब इस आर्टिकल के माध्यम से दिया गया है, तो यदि आप B.Tech में एडमिशन लेना चाहते हैं, तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।

B.Tech की Full Form होती है Bachelor of Technology. ये 4 साल की डिग्री कोर्स होता हैं, जिसमे Computer और Technology से जुड़े विषयों पर पढाई होती है। 12th Class Science Stream से पास करने के बाद ही ये कोर्स किया जाता है। अगर आप भी Engineering Field में जाना चाहते है, तो आपके लिए B.Tech करना बहुत ही अच्छा विकल्प है। हम आज आपको इस आर्टिकल में B.Tech क्या है? और B.Tech से जुडी सभी जानकारी देंगे।

बी.टेक क्या है?

B.tech यानि बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (Bachelor of Technology) ये एक अंडरग्रेजुएट लेवल का इंजीनियरिंग कोर्स है। जो बच्चे Engineer बनना चाहते है वो 12th क्लास पूरी करने के बाद B.Tech में एडमिशन ले सकते है। इस कोर्स को पूरा करने में 4 साल का समय लगता है।

इस कोर्स को करने के बाद स्टूडेंट्स इंजीनियर बन सकते हैं। बीटेक कोर्स में छात्रों को इलेक्ट्रॉनिक्स, कम्युनिकेशन, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, सिविल आदि कोर्सस कराए जाते हैं। इंडिया में करीब साढ़े तीन लाख ऐसे कॉलेज हैं जो बीटेक ऑफर करते हैं।

Engineer बनने के लिए B.Tech के अलावा एक और डिग्री कोर्स होता है जिसका नाम BE (Bachelor of Engineering) है। हालाँकि B.Tech और  BE में बहुत ज्यादा अंतर नहीं होता है। दोनों का सिलेबस लगभग सामान ही होता है।

B.Tech Course कैसे करें?

B.Tech Course or B.Tech Me Admission Kaise Le Full Details in Hindi

अगर आप भारत में इंजीनियरिंग कर रहे है, तो ये बहुत ही पॉपुलर कैरियर में से एक माना जाता है। हर साल लगभग लाखो बच्चे B.Tech करने के लिए एडमिशन की कोसिस करते है। इसलिए आज कल अच्छे कॉलेज में एडमिशन के लिया बहुत ज्यादा Competition बढ़ गया है। एसे में अगर आप भी B.Tech करना चाहते है तो आपको एडमिशन लेने के लिए आपको एक Entrance Test देना पड़ता है। इंजीनियरिंग एंट्रेंस टेस्ट के छात्रों को उनके प्रदर्सन के अनुसार ही एडमिशन मिलता है।

B.Tech कोर्स करने के लिए Eligibility Criteria सेट किया गया है। जिसको पास करने के बाद ही कोई B.Tech की पढाई कर सकते है।

बी.टेक कोर्स डिटेल्स

विवरण व्यौरा
डिग्री का नाम बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (Bachelor of Technology)
प्रसिद्द नामबी.टेक (B.Tech)
स्तर अंडरग्रेजुएट
अवधि4 वर्ष
सेमेस्टर /वार्षिकसेमेस्टर
प्रवेश प्रक्रियाअधिकारियों द्वारा प्रवेश परीक्षा के बाद काउंसलिंग।
Eligibility Criteriaकिसी मान्यता प्राप्त संस्थान/बोर्ड से पीसीएम या पीसीबी में 10+2 पूरा किया होना चाहिए
कोर्स का शुल्क1 – 12 लाख रुपये वार्षिक (कॉलेज के अनुसार)
प्रवेश देने वाले टॉप इंस्टीट्यूट   IITs, NITs, IIITs और GFTI के साथ कुछ निजी संस्थान जैसे VIT, BITS, MIT इत्यादि
टॉप भर्ती करने वाली कंपनियांGoogle, Apple, Hindustan Unilever Ltd, ISRO, Microsoft, Amazon, Flipkart, Intel, TATA Consultancy आदि
करियर के प्रकार  सिविल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियर, कंप्यूटर इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियर, मरीन इंजीनियर, इत्यादि

बी.टेक के लिए योग्यता (Eligibility for B.Tech)

  • B.Tech में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट को 12th पास आउट होना जरुरी है। 
  • 12th में स्टूडेंट का सब्जेक्ट (PCM) Physics, Chemistry और Math सब्जेक्ट होना चाहिए। 
  • इसके अलावा एक अच्छे कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए काम से काम 60% मार्क्स होना चाहिए। 

भारत में Government और Private दोनों ही तरह के कॉलेज होते है, जो B.Tech कोर्स करते है। Government College में एडमिशन के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। और अगर आप Private College में एडमिशन ले रहे है, तो ये उस कॉलेज की पॉलिसी के हिसाब से आपका एडमिशन होता है।

बी.टेक के कोर्स (Course)

बी.टेक एक ऐसा कोर्स है जिसको अलग अलग ब्रांचो में बांटा गया है। बी.टेक के तहत कई सब कोर्सेस ऑफर किये जाते है। आप अपने इंटरेस्ट के हिसाब से बी.टेक की कोई भी ब्रांच चुन सकते है। 

  1. Electrical Engineering
  2. Computer Science Engineering
  3. Civil Engineering
  4. Mechanical Engineering
  5. Electronics & Communication Engineering
  6. Information Technology
  7. Aerospace Engineering
  8. Petroleum Engineering

1. Electrical Engineering

इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में स्टूडेंट्स को इलेक्ट्रिसिटी की टेक्नोलॉजी की स्टडी कराई जाती है। इसमें स्टूडेंट इलेक्ट्रिसिटी के Component डिवाइस और सिस्टम के बारे में डिटेल में जानकारी हासिल करता है। आसान भाषा में समझे तो इसमें इलेक्ट्रिसिटी से जुड़े डिवाइसेस की पढ़ाई होती है।

2. Computer Science Engineering

इस ब्रांच की स्टडी करने के बाद स्टूडेंट सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर इंजीनियर बनते हैं। इसमें आपको कोडिंग, वेब एप्लीकेशन, Website Developing आदि के बारे में पढ़ाया जाता है।

3. Civil Engineering

ये इंजीनियरिंग की एक ऐसी ब्रांच है इसमें किसी बिल्डिंग के डिजाइन, Construction, उसके प्राकृतिक (Naturally) और भौतिक (Physical) पर्यावरण के रखरखाव का काम होता है। इसके अलावा पब्लिक काम जैसे रोड, ब्रिज, कैनाल्स, डैम्स, एयरपोर्ट्स, सीवेज सिस्टम, पाइपलाइन्स, रेलवेज आदि का भी काम शामिल होता है। देश की Infrastructural Development में सिविल इजीनियरिंग प्रोफेशनल्स का रोल निभाते हैं।

4. Mechanical Engineering

ये बीटेक की सबसे पुरानी ब्रांच मानी जाती है। आसान से शब्दों में समझें तो मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्टूडेंट्स को मशीनों की बनावट और निर्माण के बारे में पढ़ाया जाता है। आप इस ब्रांच को स्टडी करने के बाद छोटी से लेकर बड़ी मशीनों का निर्माण कर सकते हैं।

5. Electronics engineering-

B.tech की इस ब्रांच के तहत इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस सर्किट और कम्युनिकेशन उपकरणों जैसे ट्रांसमीटर रिसीवर इंटीग्रेटेड सर्किट की स्टडी पर फोकस किया जाता है। बहुत ही आसान भाषा में समझें तो हमारी डेली लाइफ में इस्तेमाल होने वाले इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस जैसे टीवी, रेडिया, मोबाइल, लेपटॉप आदि इसी ब्रांच की स्टडी करने वाले इंजीनियर्स तैयार करते हैं। इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर सेटेलाइट के डिवाइस डिजाइन करते हैं।

6. Information Technology-

आपने देखा होगा कि ऑफिस वगैरह में सर्वर का काम या किसी सिस्टम में कोई समस्या आने पर IT को बुलाया जाता है। तो आईटी, CS का एडवांस वर्ज़न होता है। आज के दौर में IT सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण ब्रांच है।

B.Tech के लिए फीस (Fees for B.Tech Course)

B.Tech kaise kare ये जाने से पहले हमको ये पता होना चाहिए कि इस कोर्स को करने में कितना खर्चा आता है। आपको बता दूं, कि सरकारी और प्राइवेट दोनों इंस्टीट्यूट्स का खर्चा अलग होता है। सरकार ने सरकारी कॉलेज के बीटेक कोर्स के लिए 80 हज़ार रूपए प्रति वर्ष फीस तय की है। इस फीस में एडमिशन फीस, ट्यूशन फीस, लैब फीस आदि सबका खर्चा शामिल होता है। वहीं, प्राइवेट इंस्टीट्यूट्स में हर किसी का Fee Structure अलग होता है। लेकिन इनमें मिनिमम साल का 2 से 3 लाख का खर्चा आता है।

बीटेक करने के लिए टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज

नीचे दी गई लिस्ट में भारत के टॉप टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट्स बताए गए हैं।

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी(IIT), Madras / Bombay / Kharagpur / Delhi/ Kanpur / Rudki / Patna 
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी(NIT)
  • इंडियन स्कूल ऑफ़ माइंस, धनबाद
  • पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी, देहरादून
  • देहरादून इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, देहरादून
  • मनिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी
  • बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी
  • SRM यूनिवर्सिटी, चेन्नई
  • VIT
  • MIT

B.Tech ग्रेजुएट्स को जॉब ऑफर करने वाले इंडियन टॉप Employers

इन कंपनियों में बीटेक स्टूडेंट्स को अच्छी जॉब मिल जाती है। जैसे:

  • डिफेन्स रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO)
  • स्टील अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (SAIL)
  • भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (BHEL)
  • नेशनल थर्मल पॉवर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NTPC)
  • टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज लिमिटेड (TCS)
  • इंटरनेशनल बिजनेस मशीन्स कॉर्पोरेशन (IBM)
  • टाटा मोटर्स
  • विप्रो
  • इन्फोसिस
  • एक्ससेंचर
  • कॉग्निजेंट
  • ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (ONGC)
  • हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HPCL)
  • चेन्नई पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (CPCL)
  • गैस अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (GAIL)
  • ISRO
  • Google
  • Apple
  • Microsoft
  • HCL Technologies
  • IBM Global Services
  • Infosys Technologies
  • TATA Consultancy
  • Hindustan Unilever Ltd
  • Intel
  • Mahindra & Mahindra Ltd
  • Myntra
  • Amazon
  • Google
  • Schlumberger

B.Tech. के बाद करियर ऑप्शन

आप किसी भी ब्रांच से बीटेक करते हैं, तो आपके पास करियर के काफी ऑप्शन होते हैं। टेक्निकल बैकग्रांउड वाले स्टूडेंट्स को इंडियन सिविल सर्विसेज में भी जॉब मिल जाती है। इसके लिए उनको इंडियन सिविल सर्विस का एग्जाम पास करना होता है। बीटेक करने बाद स्टूडेंट्स इंडिया के डिफेंस सेक्टर में भी अप्लाई कर सकते हैं।

अगर आप चाहें तो टीचिंग प्रोफेशन चुन सकते हैं। इसके लिए अगर आप राइटिंग में अच्छे हैं, तो टेक्निकल राइटर बन सकते हैं। आप अपनी खुद की कंसल्टेंसी सर्विस शुरू कर सकते हैं। अपनी ब्रांच से जुड़ी किसी भी इंडस्ट्री में जॉब कर सकते हैं।

हमारे देश में CII, ISRO और BARC जैसे PSUs B.Tech स्टूडेंट्स के लिए एग्जाम कराती है जहां उनके Gate स्कोर के basic पर एंट्री लेवल जॉब्स मिल जाती है। बीटेक ग्रेजुएट्स मेक इन इंडिया पॉलिसी के तहत अपना स्टार्ट-अप शुरू कर सकते हैं जैसे अपनी खुद की आईटी कंपनी की शुरूआत।

B.Tech करने के बाद Job या Study?

हम कभी कभी ये नहीं सोच पते है की बी.टेक करने के बाद क्या करे? हम आपको बता दे की B Tech के बाद आपके पास 2 विकल्प होते हैं। अगर आप नहीं चाहते आगे पढाई करना तो आप जॉब कर सकते हैं। आमतौर पर बी टेक करने के तुरंत बाद आसानी से प्राइवेट कंपनी में जॉब मिल जाती हैं। अगर आप चाहते हैं, आगे भी स्टडी करना है तो आपके पास ये भी विकल्प होते हैं की आप आगे पढाई भी कर सकते है। 

B.Tech ग्रेजुएट्स की सैलरी 

अगर कोई स्टूडेंट बीटेक के बाद अगर जॉब करते है, तो स्टूडेंट्स की शुरूआत सैलरी काफी अच्छी होती है। अगर कॉलेज से प्लेसमेंट हुई है तो कई बड़ी कंपनियां ग्रेजुएट्स को 10-12 लाख प्रतिवर्ष के पैकेज पर भी हायर करती हैं। इसके अलावा फ्रेशर्स की मिनिमम सैलरी 25 से 30 हज़ार रूपए  होती ही है। एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ साथ पैकेज भी बढ़ता रहता है।

इस आर्टिकल में हमने B.Tech के बारे में डिटेल में जानकारी आपके साथ साझा किया है। हमने इसमें बीटेक कोर्स क्या है, कैसे करें, योग्यता, फीस, सैलरी, करियर ऑप्शन, बी.टेक से जुड़े हर एक टॉपिक पर बारिकी से बताने की कोशिश की है। उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल पढ़ने के बाद बी.टेक के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी। आपके डाउट्स भी क्लियर हो गए होंगे।

अगर अभी भी आपको B.Tech course के बारे में कोई और जानकारी चाहिए या आपका इससे रिलेटेड कोई सवाल है तो हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं।

Read more:

Diploma kaise kare

PhD Me Admission Kaise Le

UP Board Class 10 Syllabus

UP Board 12th Syllabus

टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी(IIT)Click
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी(NIT)Click
इंडियन स्कूल ऑफ़ माइंसClick
VITClick

Leave a Comment