डिप्लोमा कैसे करें? डिप्लोमा कोर्स क्या है? Diploma में Admission कैसे ले Diploma Course or Diploma Me Admission Kaise Le Full Details in Hindi 

नमस्कार दोस्तों, Diploma कैसे करे और Diploma Me Admission Kaise Le, डिप्लोमा करने के लिए कितने पैसे की आवश्यकता होती है। डिप्लोमा करने के बाद कितनी सैलरी मिलेगी, डिप्लोमा कितने प्रकार के होते हैं? आपकी इन सभी सवालों का जवाब इस आर्टिकल के माध्यम से दिया गया है तो यदि आप डिप्लोमा में एडमिशन लेना चाहते हैं, तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।

आप में से बहुत से लोग अभी स्कूल में होंगे और काफी लोगों का सपना डिप्लोमा करने का होता है। डिप्लोमा का नाम आप में से कई लोगों ने सुना होगा लेकिन अधिकतर को डिप्लोमा क्या है के बारे में पूरी जानकारी नहीं है। यहां हम इस पोस्ट में आपके साथ डिप्लोमा के बारे में Full Details आपके साथ साझ कर रहे हैं, कि डिप्लोमा कैसे करते हैं? डिप्लोमा क्या होता है? डिप्लोमा की फीस, नौकरियों के अवसर, सैलरी इत्यादि।

इस प्रकार के डिप्लोमा से जुड़े सभी प्रश्नों के उत्तर को हम यहा पर एकदम विस्तार से देखेंगे। ताकी आप डिप्लोमा कोर्स करे या नही इसका सही निर्णय ले सके। डिप्लोमा को कई क्षेत्रों में किया जाता है, जैसे अगर कोई इलेक्ट्रिकल में डिप्लोमा कोर्स होता है तो वो डिप्लोमा इन इलेक्ट्रिकल कहलाता है और उसे इलेक्ट्रिसिटी से जुड़ी चीजें एवं काम सिखाया जाता है। ऐसे में भारत में अनेक प्रकार के डिप्लोमा कोर्स करवाए जाते है जो क्लास 10 के बाद शुरू होते है और Graduation या इसके बाद में भी किए जा सकते है।

डिप्लोमा कोर्स Skill Development और एप्लीकेशन पर जोर देते हैं ताकि छात्र गतिविधियों, परियोजनाओं, कार्यशालाओं और प्रयोगशाला प्रशिक्षण में संलग्न हो सकें। Practical Skills से लेकर Vocational Education में महारत हासिल करने तक, डिप्लोमा Courses की अवधि 6 महीने से तीन साल के बीच होती है, और इस अवधि में, यह एक स्टूडेंट को वास्तविक दुनिया के नौकरी पाने की स्थिति के लिए तैयार करता है।

डिप्लोमा क्या है? What is Diploma?

Diploma Me Admission Kaise Le यह जाने से पहले आपको डिप्लोमा कोर्स क्या है? और इसे क्यों करना चाहिए इसके बारे में जानना चाहिए क्योंकि आपको यह पता होना चाहिए कि आपको  डिप्लोमा क्यों करना चाहिए। एक छोटी अवधि का कोर्स होता है, जो किसी व्यक्ति को किसी विशेष क्षेत्र में प्रशिक्षित करता है, और सर्टिफिकेट प्रदान करता है। आसान भाषा में बोले तो डिप्लोमा वो कोर्स होता है, जिसमें किसी व्यक्ति को किसी subject या क्षेत्र में कम समय में पढ़ाया जाता है।

डिप्लोमा करके कोई भी स्टूडेंट या व्यक्ति किसी भी विषय के बारे में बुनियादी नॉलेज के साथ प्रैक्टिकल नॉलेज प्राप्त कर सकता है। डिप्लोमा कोर्सेज में स्टूडेंट्स को व्यावहारिक ज्ञान पर ज्यादा ध्यान केंद्रित कराया जाता है। इसके अलावा इनमें जॉब प्रशिक्षण भी कराया जाता है।

Diploma Me Admission Kaise Le Full Details in Hindi 

अगर Short Term में कहा जाए तो डिप्लोमा कोर्स करके कोई भी व्यक्ति या स्टूडेंट कम समय में किसी खास क्षेत्र में पारंगत बन सकता है। अलग-अलग क्षेत्र या सब्जेक्ट के लिए डिप्लोमा की समयावधि भी अलग-अलग होती है जैसे किसी विषय में डिप्लोमा को करने में सिर्फ 6 माह लग सकते है, जबकि किसी अन्य डिप्लोमा को प्राप्त करने में दो से तीन साल तक का समय लग सकता है। यह सब उस विषय और संस्थान पर निर्भर करता है, जिससे कोई स्टूडेंट डिप्लोमा की डिग्री प्राप्त करना चाहता है।

डिप्लोमा के कोर्स को पॉलिटेक्निक, आईटीआई या किसी यूनिवर्सिटी से किया जा सकता है। हालाँकि अलग-अलग जगह से किये डिप्लोमा की मान्यता अलगा-अलग होती है। पॉलिटेक्निक से डिप्लोमा करना सबसे अच्छा माना जाता है क्योंकि इसके बाद बीटेक जैसे कुछ कोर्स में आसानी से एडमिशन लिया जा सकता है, ओ भी सेकंड ईयर में होता है। 

डिप्लोमा कोर्स क्या होता है?

Diploma Me Admission Kaise Le यह जानने से पहले सभी विद्यार्थियों का सवाल रहता है, की डिप्लोमा किसी भी सब्जेक्ट से किया जा सकता है, और उसके लिए भी विषय चुनने का विकल्प वही है, जो डिग्री चुनने के लिए विषय का होता है। यानी की आप जिस कॉलेज से डिप्लोमा कोर्स करना चाहते हैं, उसके अनुसार आप अपना विषय चुन सकते हैं। आप चाहे तो इंजीनियरिंग कर सकते है या Diploma in Nutrition & Health Education हो कोई और आप बहुत से कोर्स से डिप्लोमा कर सकते है। 

भारत में, इंजीनियरिंग डिप्लोमा 3 साल का कोर्स होता है। डिप्लोमा एक कॉलेज या विश्वविद्यालय द्वारा दिया गया एक प्रमाण पत्र होता है, जो बताता है कि डिप्लोमा धारक ने इस सब्जेक्ट में पढ़ाई पूरी कर ली है। डिप्लोमा कोर्स करने वालों को भारत में अक्सर जूनियर इंजीनियर भी कहा जाता है। 

किस भी ट्रैड में डिप्लोमा करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा, यह आप चुन ले, और उसके बाद आप असानी से उस ट्रैड में डिप्लोमा कर सकते हैं। डिप्लोमा करने से पहले अपनी रुचि का ध्यान रखना बहुत जरूरी है, यानी आप जिस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं, उसे ध्यान में रखते हुए डिप्लोमा के ट्रैड का चुनाव करें।

कोर्स     डिप्लोमा
डिप्लोमा कोर्स लेवलअंडरग्रेजुएट
डिप्लोमा कोर्स की समय1 से 2 साल (इंजीनियरिंग या पॉलिटेक्निक कोर्स में डिप्लोमा 3 साल की अवधि का है, जिसे 6 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है।)
डिप्लोमा में प्रवेश प्रक्रिया सरकारी कॉलेजों के लिए प्रवेश परीक्षा और निजी कॉलेजों में डायरेक्ट
डिप्लोमा परीक्षा प्रकार सेमेस्टर वाइस
डिप्लोमा में ऐडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षाएं Delhi Polytechnic CET, UP JEECUP, CG PPT, Bihar DCECE, Assam PAT etc.
डिप्लोमा कोर्स की औसत फीस 20 हजार से 60 हजार
औसत वेतन 1.1 से 4.0 लाख प्रति वर्ष
डिप्लोमा कोर्स जॉब प्रोफाइलकार्यक्रम प्रबंधक, बिक्री प्रतिनिधि, रियल एस्टेट एजेंट, यांत्रिक इंजीनियर, परियोजना प्रबंधक, प्रयोगशाला सहायक आदि।

Diploma Courses List

डिप्लोमा कोर्स करने के लिए कई संस्थान होते है, और हर संस्थान के अपने डिप्लोमा में एडमिशन के लिए अलग-अलग नियम होते है। लगभग अधिकतर डिप्लोमा में बड़ी आसानी से Admission मिल जाता है, जबकि कुछ डिप्लोमा में एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam) देना पड़ता है।

Top Diploma Courses

Diploma in EnglishDiploma in Visual Communication and Digital DesignDiploma in Foreign Language
फैशन डिज़ाइनिंग, ज्वैलरी डिज़ाइनिंग, इंटीरियर डिज़ाइनिंग,वेब डिज़ाइनिंग, ग्राफिक्स डिज़ाइनिंग में डिप्लोमाDiploma in Journalism डिप्लोमा इन नर्सिंग 
Diploma in Nutrition & Health EducationDiploma in Yoga Scienceडिप्लोमा इन मैकेनिकल इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन समुद्री इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग डिप्लोमा इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन बायोमेडिकल इंजीनियरिंग डिप्लोमा इन पेट्रोलियम इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन
डिप्लोमा इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी डिप्लोमा इन माइनिंग इंजीनियरिंग डिप्लोमा इन प्लास्टिक इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन कंप्यूटर इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन कंस्ट्रक्शन इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन कंस्ट्रक्शन इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन सिरेमिक इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन पर्यावरण इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन मेक्ट्रोनिक्स इंजीनियरिंग डिप्लोमा इन प्रोडक्शन इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन रोबोटिक्स इंजीनियरिंग

डिप्लोमा करने के लिए योग्यता

Diploma Me Admission Kaise Le यह जानने से पहले सभी विद्यार्थियों का सवाल रहता है की योग्यता क्या होती है।  अगर आप डिप्लोमा में ऐडमिशन लेने चाहते है. तो आपको पता होना चाहिए कि डिप्लोमा में प्रवेश पाने के लिए आपकी योग्यता क्या होनी चाहिए। 

डिप्लोमा कोर्स कई प्रकार का होता है। प्रत्येक डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन लेने की योग्यता भी अलग-अलग होती है। योग्यता से देखा जाए है, तो कई ऐसे डिप्लोमा कोर्स है, जिनमें क्लास 8 पास करने के बाद भी Admission लिया जा सकता है, जबकि कई डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश के लिए स्कूल लेवल की पूरी पढ़ाई करनी पड़ती है।

इसके अलावा डिप्लोमा के कुछ बड़े Courses में Admission के लिए Minimum योग्यता अंडर ग्रेजुएशन भी जरूरी है। कुछ डिप्लोमा को छोड़कर अन्य डिप्लोमा में प्रवेश लेने के लिए Age limit भी नहीं होती है। ऐसे में कोई भी Candidate कभी भी डिप्लोमा में प्रवेश ले सकता है।

अगर आप योग्यता के आधार पर डिप्लोमा में प्रवेश पाना चाहते है, तो आपका 10वीं या 12वीं में कम से कम 45 से 50% होना चाहिए। और अगर प्रवेश परीक्षा के आधार पर डिप्लोमा में प्रवेश पाना चाहते है, तो आपको प्रवेश परीक्षा मे अच्छे स्कोर हासिल करना होगा।

Diploma Course Admission Process

अगर हम बात करे की डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश किस प्रकार से होता है तो, डिप्लोमा में ऐडमिशन प्रवेश परीक्षा यानी की Entrance Exam के माध्यम से या फिर योग्यता के आधार पर, दोनो ही तरीके से किया जाता है। परन्तु ध्यान रहे की प्रत्येक डिप्लोमा कॉलेज की अपनी अपनी प्रवेश प्रक्रिया होती है, इसलिए आप किसी भी डिप्लोमा कॉलेज में प्रवेश के लिए आवेदन करने से पहले उस कॉलेज के Eligibility Criteria की जांच जरुर करें। आप नीचे इस पोस्ट में डिप्लोमा मे प्रवेश प्रक्रिया का पूरा विवरण देख सकते हैं।

प्रवेश परीक्षा के माध्यम से डिप्लोमा में प्रवेश

हम सभी जानते है की, लगभग सभी राज्यों के सरकारी कॉलेजों में डिप्लोमा में प्रवेश के लिए, आपको प्रवेश परीक्षा में बैठना और रैंक स्कोर करना अनिवार्य होता है। हर राज्य अलग-अलग प्रवेश परीक्षा आयोजित करता है, जिसमें आपको पास होना होता है।

प्रवेश परीक्षा के माध्यम से डिप्लोमा में प्रवेश के लिए आवेदन करने के लिए, आपको पहले आवेदन पत्र भरना होगा, आवश्यक दस्तावेज अपलोड करना होगा और परीक्षा में बैठना होगा। 

प्रवेश परीक्षा आयोजित होने के बाद परीक्षा आयोजित करने वाली संस्था परिणाम और रैंक जारी करेगी, जिसके आधार पर छात्रों को काउंसलिंग और सीट आवंटन प्रक्रिया के लिए बुलाया जाएगा। जिसके बाद, उम्मीदवारों को डिप्लोमा कॉलेजों में सीटें दी जाएंगी।

मेरिट आधारित डिप्लोमा में प्रवेश

भारत में ऐसे बहुत से निजी कॉलेज मौजूद है, जहा आप अपने 10वीं प्रतिशतता के अनुसार सीधे प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं। मेरिट आधारित प्रवेश के लिये आवेदन करने के लिए, आपको संबंधित विश्वविद्यालय द्वारा जारी Registration फॉर्म को भरना होगा। आवेदन प्रक्रिया में, आपको मार्कशीट और प्रमाण पत्र अपलोड करने के लिए कहा जाएगा। और इसके बाद, संस्थान मेरिट लिस्ट जारी करेगा या काउंसलिंग राउंड आयोजित करेगा और फिर मेरिट लिस्ट जारी करेगा।

अगर आप प्रवेश परीक्षा नहीं देना चाहते हैं, तो आप योग्यता के आधार पर डिप्लोमा में प्रवेश ले सकते हैं।  कुछ निजी शीर्ष कॉलेज हैं जो 10वीं में बहुत अच्छे प्रतिशत की मांग कर सकते हैं, जैसे 75% या उससे ऊपर।  यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि प्रवेश के लिए उम्मीदवार किस ब्रांच में रुचि रखते हैं।

डिग्री और डिप्लोमा में अंतर

अगर हम बात करे किसी भी विषय में मास्टर डिग्री या पीएचडी करने के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री जरूरी है। यदि आप उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपके पास डिग्री होनी चाहिए। डिग्री में आपको हर विषय का गहन अध्ययन कराया जाता है, जिससे छात्र को उस विषय से संबंधित हर चीज का ज्ञान हो जाता है और वह उस विषय का विशेषज्ञ बन सकता है। डिग्री कोर्स को पूरा करने में लगने वाला समय थोड़ा ज्यादा होता है, यानी 2 से 4 साल तक।

और अगर डिप्लोमा की बात करें तो डिप्लोमा कोर्स में आपको एक खास विषय के बारे में पढ़ाया जाता है, इसकी अवधि कम होती है। और इसमें कुछ दिनों के लिए इंटर्नशिप भी कराया जाता है, यह आपके द्वारा चुने गए सब्जेक्ट पर निर्भर करता है। कुछ डिप्लोमा कोर्स 6 महीने में पूरे हो जाते हैं, जबकि कई डिप्लोमा कोर्स 2 या 3 साल के होते हैं।

डिप्लोमा करने के बाद आप उस विषय से संबंधित नौकरियों के लिए असानी से आवेदन कर सकते हैं।  डिप्लोमा कोर्स की खासियत यह है, कि इसे आप 8वीं क्लास के बाद से भी कर सकते हैं। यानी अगर आप कक्षा 8वीं तक ही पढ़े हैं और आप नौकरी करना चाहते हैं, तो इसके लिए आप अपने समय और रुची के अनुसार ऐसे सब्जेक्ट से डिप्लोमा कर सकते है, जिसमें की आपको असानी से जॉब मिल सके जैसे की  कंप्यूटर ऑपरेटर, प्रोग्रामिंग असिस्टेंट, प्रिंटिंग ऑपरेटर, कारपेंटर, पैटर्न मेकर, वायर मैन, मैकेनिक, मशीन इलेक्ट्रॉनिक्स आदि। इसके अलावा आपको अलग-अलग शिक्षा के अनुसार डिप्लोमा कोर्स के विषय मिलते हैं। 

सामान्यत: डिग्री लगभग तीन से चार साल की होती है जबकि डिप्लोमा एक से दो वर्षों में किया जा सकता है। डिग्री सिर्फ यूनिवर्सिटी द्वारा दी जा सकती है जबकि डिप्लोमा यूनिवर्सिटी के अलावा पॉलीटेक्निक, आईटीआई से भी किया जा सकता है। डिप्लोमा की तुलना में डिग्री अपर लेवल की होती है यानि किसी भी फील्ड में डिग्री को डिप्लोमा से ज्यादा वरीयता दी जाती है।

Usually, डिग्री कोर्स में कई subjects के बारे में सिखाया जाता है जबकि डिप्लोमा में किसी विशेष क्षेत्र या सब्जेक्ट में professional बनाया जाता है।

डिप्लोमा करने के फायदे

डिप्लोमा होल्डर के लिए नौकरी मिलने की संभावना काफी बढ़ जाती है। जहां डिग्री कोर्स में सैद्धांतिक ज्ञान दिया जाता है, वहीं डिप्लोमा पूरी तरह से प्रैक्टिकल होता है। डिप्लोमा के जरिए आपकी वो सभी Skills Develop की जाती हैं, जिनकी आपको जॉब के दौरान जरूरत होती है, इसका फायदा आपको जॉब इंटरव्यू में मिलता है और आपके जॉब में सेलेक्ट होने के चांस काफी बढ़ जाते हैं। अगर आपने अपनी रुचि के विषय से डिप्लोमा किया है और आप फ्रेशर हैं, तो नौकरी में आपका हुनर ​​आपको शुरुआत में ही अच्छी सैलरी दिला सकता है। अगर आप के पास ज्यादा पैसे नहीं है तब भी आप डिप्लोमा कर सकते है क्युकी इसमें पैसे कम लगते है। 

इसके अलावा डिप्लोमा करने के कई नुकसान भी होते है जैसे कई जॉब के लिए यूनिवर्सिटी से डिग्री का होना जरूरी है इत्यादि।

आज हमने आपको इस पोस्ट में Diploma Course इसके बारें में विस्तार से बताया है। अगर आपको इस आर्टिकल में दी हुई जानकारी पसंद आई है। तो आप Diploma Kya Hai इस ब्लॉग को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों तक जरूर शेयर करें। और अगर आपका Diploma से जुडी कोई जुड़ा हुआ कोई भी प्रश्न है तो आप नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते है हम आपको पूरी मदद करेंगे। 

Read more:

PhD Me Admission Kaise Le

UP Board Class 10 Syllabus

UP Board 12th Syllabus

Leave a Comment