ये पढ़ाई करने बाद Police डरने लगती है, वकील कैसे बने?

वकील कैसे बने? इस सवाल का आसान से जवाब ये है 12वी के बाद CLAT का Entrance Exam पास करना होता है. उसके बाद जाकर काउन्सलिंग होता है और फिर किसी Law college में admission मिलता है. अगर आप भी हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में वकालत करना चाहते है और कानून की पढ़ाई कर एक अच्छा वकील बनना चाहते है. तो आज के इस ब्लॉग में हम आपको बताएंगे की कैसे वकील बनते हैं? वकील बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है.

इसकी योग्यता, CLAT exam क्या है? ये सभी जानकारी आपको इस ब्लॉग में जानने को मिलेगा जो आपके लिए जरूरी है.

Vakil Kaise Bane? यह सवाल और इससे कई सारे सवाल स्टूडेंट्स के मन में होता है लॉ स्कूल में एडमिशन लेने से पहले, जैसे की वकील की पढ़ाई कितने साल लगते है? कितना फीस लगेगा ये सब तो इसके लिए हमने सोचा लॉयर की पढ़ाई कैसे करना है? इसके बारे में विस्तार से एक पोस्ट बना दिया जाए.

वकील कौन होता है?

वकील वह अधिवक्ता होता है जो कोर्ट में किसी मुकदमे पर लोगों की बात को कोर्ट के सामने बड़े प्रभावी रूप से प्रस्तुत करता है. वकील को कानून के सभी नियम अच्छी तरह से मालूम होते, कोर्ट में वकालत करने में वह निपुण होता है. वकील एक लीगल एडवाइजर भी होता है जो किसी मुद्दे पर अच्छी सलाह देता है.

लॉयर किसे कहा जाता है?

लॉयर उस व्यक्ति को कहा जाता है जिसके पास LLB की डिग्री होती है. लॉयर कोर्ट में केस नहीं लड़ सकता है, यह केवल सलाह दे सकता है. जब कोई लॉयर BCI (बार काउंसिल ऑफ इंडिया)की परीक्षा पास कर उसमे अपना नाम रजिस्टर करवा लेता है.

तो उसको कोर्ट में pratice करने के लिए लाइसेंस मिल जाता है. जिसके बाद से आप एक एडवोकेट बन जाते हैं. अब आप कोर्ट में किसी के पक्ष में केस लड़ सकते है.

वकील कैसे बने?

12वी की परीक्षा पास करने के बाद कोई भी स्टूडेंट जो की लॉ की पढ़ाई करना चाहता है यानि वकील बनाना चाहता है. तो इसके लिए CLAT जा एग्जाम देना होता है. जो की एक प्रकार का एंट्रेंस एग्जाम होता है. जो इस एग्जाम को पास कर लेता है. उसके बाद लॉ कोर्स 5 वर्ष का होता है.

यहाँ पर वकील बनाने पूरा प्रोसेस यहाँ बताया है. अगर इस सवाल का जवाब तलाश कर रहे है की वकील कैसे बने?

वकील बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होनी चाहिए?

  • वकील बनने के लिए सबसे पहले आपको LLB की डिग्री हासिल करनी होती है।
  • जिसके लिए आपको अपनी 12वीं तक की पढ़ाई किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से पूरी करनी होगी।
  • 12वीं के बाद आप CLAT एग्जाम को पास करके आपको एक अच्छे law collage में LLB के कोर्स में एडमिशन लेनी है और अपनी लॉ की पढ़ाई पूरी करनी है।
  • 12वी के बाद B.LLB कोर्स, 5 साल में पूर्ण होता है।
  • लेकिन अगर आप ग्रेजुएशन के बाद करते हैं तो आपको 3 साल के LLB कोर्स में एडमिशन लेना होगा.

इन्हे भी पढ़े IIT Bombay में एडमिशन कैसे ले?

CLAT Exam क्या होता है?

CLAT Exam

CLAT का फुल फॉर्म कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा) और 70 से अधिक संबद्ध क्लैट कॉलेजों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाने वाली एक राष्ट्रीय स्तर की लॉ प्रवेश परीक्षा है.

CLAT एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जिसे हर साल consortium of national law University के द्वारा कराया जाता है.

CLAT exam को क्वालीफाई करने के बाद आप देश के 22 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी और प्राइवेट लॉ यूनिवर्सिटी के विकल्प मिलते है जिसमे आप लॉ कालेज का चयन कर अपना admission करा सकते है.

Clat exam के लिए क्या क्वालिफिकेशन होनी चाहिए?

यह एक प्रवेश परीक्षा है CLAT exam को देने के लिए 12वी क्लास में 45% अंक से पास होना जरूरी है st\sc वालो ke लिए 40 % मार्क्स होने चाहिए.

यदि आप 12वी कक्षा पास नही किए है तो आप CLAT exam के लिए आवेदन नही कर सकते है।आयु सीमा- निर्धारित नही है. एग्जाम फीस – जनरल/obc। 4000 | sc/St 3000

Clat exam का सिलेबस

द कंसोर्टियम ऑफ नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज अभी हाल नया सिलेबस जारी किया है. जिसमे किस विषय का वेटेज कितना रहेगा और कौन-कौन से विषय है. इनका सभी का लिस्ट नीचे टेबल और लिस्ट में दिया गया है.

  • Current affairs
  • General knowledge
  • English language
  • Reasoning
  • Mathematics

विषय-वार वेटेज और प्रश्न वितरण (CLAT 2024 Syllabus in Hindi)

वेटेज के साथ विषय:प्रश्नों की संख्यावेटेज (%)
अंग्रेजी भाषा22-2620%
सामान्य ज्ञान सहित करेंट अफेयर्स28-3225%
लीगल रीज़निंग28-3225%
लॉजिकल रीज़निंग22-2620%
क्वॉंटिटेटिव तकनीक10-1410%

https://mystudentshelpline.com/wp-content/uploads/2023/09/CLAT-2024.pdf

LLB करने के बाद कितने साल लगते है वकील बनने में?

अब यदि आपने LLB की डिग्री हासिल कर ली है तो इसके बाद आपको बार काउंसिल ऑफ इंडिया से लाइसेंस लेकर आपको किसी सीनियर वकील के असिस्टेंट के पद पर कार्य करते हुए कोर्ट में प्रेक्टिस करना होता है.

इस इंटर्नशिप को पूरा करते है यहां पर आप एक वरिष्ठ वकील से उन सभी आवश्यक न्यायालय प्रक्रियाओं को सीखते हैं जो आपके पूरे करियर के लिए सहायक होंगे।.

इस कड़ी मेहनत के बाद आप वकील बन जाते हैं। अब आप वकालत करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

बार काउंसिल ऑफ इंडिया BCI से लाइसेंस कैसे ले?

इसके लिए आपको bci में रजिस्ट्रेशन करा कर आपको AIBE All India Bar Examination exam देना होगा जिसमे पास होने के बाद आपको bci से लाइसेंस प्राप्त हो जाता है जिसके बाद आप कोर्ट में प्रैक्टिस करने कर सकते है और अच्छा अनुभव ले पाते है.

स्टेप -1: सबसे पहले आपको BCI ऑर्गनाइज़ेशन की अधिकारिक वेबसाइट barcouncilofindia.org पर जाना होगा.

  • आप जैसे ही AIBE की वेबसाइट पर पहुँचते है स्क्रीन पर इस वेबसाइट का होम पेज खुलता है।
  • होम पेज आपको AIBE XVIII registration के लिंक पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने नया पेज खुलकर आ जाएगा जहाँ पर आपको Register here के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • यहाँ पर आपको नाम, मोबाइल नंबर, email, address और password आदि जानकारी भरने के बाद continue के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके रजिस्टर नंबर पर एक OTP आएगा। जिसे अपने फॉर्म में दर्ज करना है।
  • अब आपको Back to login के ऑप्शन पर क्लिक करके users login में email और password दर्ज करके login के ऑप्शन पर क्लिक कर लेना है।
  • अब आपके सामने “Registration form” पेज खुल जाएगा यहाँ पर आपको आवेदक का नाम, जाति, लिंक, जन्म तिथि आदि अन्य जानकारी को भरने के बाद continue के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • आगे की अन्य जानकारी को भरने के लिए आपको 3 भागों में details भरनी होगी जैसे – basic details, education details और docoment upload करने होंगे।
  • सभी जानकारी सही से दर्ज करने के बाद आपको Submit के ऑप्शन पर क्लिक कर लेना है।
  • अब आपके सामने सभी जानकारी आ जाएगी जो आपने दर्ज की थी इसके बाद आपको make payment के ऑप्शन पर क्लिक करना है। आप अपने अनुसार किसी भी ऑनलाइन माध्यम से आवेदन शुल्क जमा कर सकते है।

Law common specialization कौन सी है

जिस तरह डॉक्टर भी किसी एक सब्जेक्ट में स्पेशलिस्ट होते है जैसे डेंटल,हार्ड,eye specialist doctor उसी तरह लॉ की पढ़ाई करके आप किसी भी एक फील्ड में specialist बन सकते है। नीचे उनके नाम दिए गए है –

  • Civil law
  • Tax law
  • Criminal law
  • Corporate Law
  • Environment Law
  • Intellectual property law

Law करने के बाद जॉब option

  • Tax lawyer 
  • Family lawyer 
  • Legal assistant
  • Securities lawyer 
  • Environment lawyer
  • Bank lawyer
  • Etc.

इन्हे भी पढ़े Ladkiyon ki Naukari: लड़कियों के लिए सबसे आसान नौकरी कौन सी है?

हाईकोर्ट में वकील कैसे बने?

  • हाईकोर्ट में वकील बनने के लिए आपको llb की डिग्री हासिल करनी होगी
  • फिर आपको लोअर कोर्ट में 5 साल तक वकालत करनी होगी।
  • जिसके बाद आपके अनुभव और परफॉमेंस के आधार पर आप हाई कोर्ट में वकील बन जाते है और वकालत कर पाते है।
  • इसके अलावा भी आप यदि LLB कोर्स करने के बाद यदि आप सीधे किसी हाई कोर्ट के वरिष्ठ वकील के जूनियर एसिटेंट के पद पर एंटरनशिप करते है।
  • तो यह एंटरनशीप पूरा होने के बाद आप हाईकोर्ट के वकील बन पाते है।
  • इससे आपको लोअर कोर्ट में 5 साल वकालत नही करना पड़ता है ।

सुप्रीमकोर्ट में वकील कैसे बने?

  • सुप्रीमकोर्ट में वकील बनाने के लिए सबसे पहले आपको हाईकोर्ट में 5 साल की वकालत करने का अनुभव होना चाहिए।
  • जिसके बाद आप AOR ( advocate of record exam) देना होगा।
  • इस एग्जाम को पास करने के बाद ही आप आसानी से सुप्रीम कोर्ट में वकालत कर पाएंगे।

भारत के 5 सबसे अधिक वेतन पाने वाले वकील

हरीश साल्वेलगभग रु. 12 लाख से रु. 14
लाखफली सैम नरीमनलगभग 10 लाख रुपये से 15 लाख रुपये
के.परासरन रु. 10 लाख से रु. 12
लाखगोपाल सुब्रमण्यमलगभग रु. 5 लाख से रु. 8
लाखकेके वेणुगोपालरु. 7 लाख से 10 लाख
भारत के 5 सबसे अधिक वेतन पाने वाले वकील

FAQ

वकील काला कोट क्यों पहनते हैं?

1961 में अधिवक्ता अधिनियम में यह लिखा गया है की वकील के कोट का रंग काला होना चाहिए इसलिए इस नियम के वजह से वकील काला कोट पहनते है।

भारत में सबसे बड़ा वकील कौन है?

हरीश साल्वे भारत के सबसे बड़े वकीलों में से एक है। वह भारत के सर्वोच्च न्यायालय में एक वरिष्ठ अधिवक्ता हैं।

lawyer vs advocate vs barrister में क्या अंतर है?

Lawyer- लायर के पास केवल llb की डिग्री होती है वह केवल सलाह दे सकता है, कोर्ट में वकालत नही कर सकता है जब तक की उसे बीसीईआई से लायसेंस न मिल जाए।
Advocate – यह वह व्यक्ति होता है जिसने llb के बाद bci से लाइसेंस प्राप्त कर कोर्ट में वकालत करता है और अनुभवी होता है। यह किसी मुकदमे पर कोर्ट में लड़ सकता है।
barrister- यदि किसी ने इंग्लैंड से लॉ की डिग्री हासिल की है तो उसे barrister कहते है जिसे इंडिया में लॉयर कहते है।

निवेदन

दोस्तो अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आती हो तो इस ब्लॉग को शेयर जरूर करे साथ ही यदि किसी प्रकार का सुझाव देना हो तो कमेंट अवश्य करे।

Leave a Comment